मिथिला राज्य की मांग क्यों है सही और जायज – जरूर पढ़े

0
366

मिथिला वासियों की अलग राज्य “मिथिला” की मांग कोई नयी बात नहीं हैं, ये आज़ादी के समय से पहले की मांग है लेकिन कोई जोरदार संगठन न होने के कारण सरकार के तरफ से इस मांग की हमेशा उपेक्षा ही हुई हैं! हाल के दिनों में दरभंगा के सांसद कीर्ति झा आज़ाद ने भी मिथिला अलग राज्य की आवाज़ उठाइ थी!

मिथिला राज्य की मांग क्यों हैं सही और जायज़ - जरूर पढ़े

लेकिन अब मुख्य बात ये हैं की क्यों मिथिला अलग राज्य की मांग हो रही हैं, और मिथिलावासिओं के तरफ से उत्तर साफ़ हैं “मिथिला क्षेत्र” का  विकास के नाम पे उपेक्षा और नजरअंदाज़ी! अभी भी बिहार में मिथिला के सारे जिले सबसे पिछले जिलों में से आते हैं और किसी भी सरकार ने अभी तक इसके विकास पे ध्यान नहीं दिया!

मिथिला के अधिकतम युवा और कमाऊ वर्ग रोजगार की तलाश में मिथिला से पलायन कर चुकें हैं, यही वो मिथिला हैं जो खुद में कभी देश हुआ करता था और सिर्फ 3-4 चीनी मीलों से लाखों लोगो को रोजगार मिलता था, लेकिन अब वही मिथिला बदहाली के हाशिये पे खड़ा हैं और एक तरह से विकास की भीख मांगने पर मजबूर हैं!

विकास के नाम पे मिथिला में अभी तक नेताओ के फ़र्ज़ी भाषण और वादे के अलावा कुछ और सुनने को नहीं मिला हैं – सारे फैक्ट्री, लघु उद्योग और चीनी मिलें बंद पड़ी हैं और कोई इसपे ध्यान नहीं दे रहा, गरीब और गरीब हो गया और सपने रखने वाले लोग मिथिला से परिवार सहित पलायन कर गये!

मिथिला राज्य की मांग क्यों हैं जायज - जरूर पढ़े

निचे लिखे कुछ मुख्य बिंदु मिथिला राज्य के मांग को बिल्कुल सही और जायज़ ठहराते हैं:

१. मैथिलि भाषा और संस्कृति का विकास
२. अत्यधिक पिछड़ापन और गरीबी
३. बंद पड़े चीनी मीलों और फैक्ट्री को चालू कर रोजगार जगाना
४. तीव्र गति से दूसरे शहरों में हो रहे पलायन को रोकना
५. मधुबनी पेंटिंग्स के कला का विकास
६. IIT और AIIMS जैसे कॉलेज मिथिला में खुलवाना
७. दरभंगा एयरपोर्ट को इंटरनेशनल एयरपोर्ट बनवाना
६. मिथिला पर्यटन को बढ़ावा देना
७. सीता माता के जन्म अस्थली को विश्व विख्यात तीर्थ अस्थल बनाना
८. विलुप्त होती विद्यापति और मिथिला के विरासत को बचाना
९. परिवारवाद और लालुवाद की राजनीती से बचा कर मिथिला को उसका हक़ दिलाना
१०. बाढ़ और सूखा के समस्या का पूर्ण समाधान
११. जयनगर का भारत का अंतिम स्टेशन होने के नाते विश्व अस्तर पे विकास

अगर आप भी एक मिथिलावासी हैं और ऊपर लिखे बातो से सहमत है तो इस लेख को अपने दोस्तों के साथ शेयर करना न भूलें और निचे कमेंट बॉक्स में अपना बहुमूल्य सलाह और सुझाव भी लिखे!

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here